Saturday , 18 November 2017
Home / Events / एमएसएमई सैमसंग डिजिटल एकेडमी के समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर समारोह

एमएसएमई सैमसंग डिजिटल एकेडमी के समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर समारोह

इस महत्वपूर्ण अवसर पर आपके बीच आकर मुझे बहुत हर्ष हो रहा है। यह हमारे लिए एक और मील का पत्थर है क्योंकि हम देश के युवाओं को जरूरी कौशल से युक्‍त करने का प्रयास कर रहे हैं जिससे भविष्य में उन्हें प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में रोजगार मिल सके।
युवाओं के कौशल विकास के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के ‘मेक इन इंडिया’ और ‘स्‍किलिंग इंडिया’ के दूरदर्शी कार्यक्रम और मेरे मंत्रालय के अनवरत प्रयास के अनुरूप, आज मैं इस दिशा में अपने मंत्रालय और सैमसंग इंडिया इले‍क्ट्रानिक्स के बीच एक और उपयोगी सहभागिता की घोषणा करते हुए बहुत खुशी का अनुभव कर रहा हूं।
सैमसंग और सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यम मंत्रालय युवा विद्यार्थियों को ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित एक कौशल विकास पाठ्यक्रम प्रदान करने हेतु एमएसएमई सैमसंग डिजिटल एकेडमी खोलने के लिए आज समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर रहे हैं। सैमसंग मेरे मंत्रालय के सहयोग से डिजिटल एकेडमी कोर्स चलाएगा और असंख्य उपकरणों जैसे स्मार्ट फोन, टेलीविजन और टैबलेट पर ऐप विकसित करने के लिए हजारों युवाओं को प्रशिक्षित करेगा।
मित्रों, आप जानते हैं कि भारत में कृषि के बाद एमएसएमई क्षेत्र सबसे अधिक लोगों को रोजगार प्रदान करता है। इस क्षेत्र की स्‍किल मैनपावर की आवश्यकता को पूरा करने के लिए, एमएसएमई मंत्रालय रोजगार प्रदान करने वाले कौशलों पर बल देते हुए और उद्योग के साथ भागीदारी में व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान कर उद्योग केंद्रित स्‍किल्‍ड मैनपावर उत्पन्न करने के लिए प्रतिबद्ध है।
मंत्रालय के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रीय प्रतिष्ठान नियमित रूप से कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं, जिसके द्वारा हमने पिछले साल 6 लाख से ज्यादा युवाओं को प्रशिक्षित किया है।
सैमसंग इंडिया पिछले साल से हमारा पार्टनर रहा है जब हमने एमएसएमई प्रौद्योगिकी केन्‍द्रों में ‘एमएसएमई-सैमसंग टेक्‍नीकल स्‍कूल’ की स्‍थापना करने के लिए समझौता किया था। इस संयुक्‍त पहल से हर साल तकरीबन 10,000 युवाओं को प्रशिक्षित करने में सहायता मिलने की आशा है। इन प्रशिक्षित युवाओं को सैमसंग सहित विभिन्‍न उपकरण निर्माण संगठनों में नियुक्ति पाने का अवसर मिल रहा है। मुझे यह भी विश्‍वास है कि उनमें से कई अपने निजी उद्यम और इलैक्ट्रिकल और इलैक्‍ट्रॉनिक प्रोडक्‍ट की मरम्‍मत और रखरखाव के लिए सेवा केन्‍द्र स्‍थापित कर सकते हैं।
यह उन संभावी मॉडलों में से एक है जिसके तहत युवाओं को दिए जाने वाले प्रशिक्षण को उपयोगी बनाया जा सकता है और उनके स्‍थायी रोजगार अथवा निजी उद्यम स्‍थापित करने की योग्‍यता की संभावनाओं को बहुत अधिक बढ़ाया जा सकता है। प्रौद्योगिकी और नवोन्‍वेष के क्षेत्र में सैमसंग को अत्‍यधिक अनुभव एवं विशेषज्ञता प्राप्‍त है। हम सैमसंग इंडिया को एक योग्‍य पार्टनर मानते हैं और यह कामना करते हैं कि करते हैं कि यह नया गठबंधन उसी प्रकार फलदायी होगा।
मेरे मंत्रालय का विश्‍वास है कि सैमसंग जैसे उद्योग से गठबंधन नवीनतम, उद्योग संबंधी प्रशिक्षण उपलब्‍ध कराने में सहायक होगा। मैं आशा करता हूं कि सभी प्रकार के सामाजिक-आर्थिक स्‍तरों के युवाओं को इस कार्यक्रम से अवसर एवं लाभ मिलेंगे। समग्र विकास की दिशा में यह एक और कदम है और यह डिजीटल अंतर को समाप्‍त करने में कारगर होगा।
मैं एक बार पुन: सैमसंग को इस पहल के लिए धन्‍यवाद देता हूं और प्रत्‍येक को शुभकामनाएं देता हूं।

#MSME #SKILLINDIA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


1 × = seven

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>