Thursday , 24 June 2021

नारी अबला नहीं बल्कि शक्तिरूपा और स्वयंसिद्धा होती है

राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने समस्त नारी शक्ति को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च) की हार्दिक शुभकामना दी है। उन्होंने आह्वान किया कि समाज विशेषकर पुरुषों को नारी शक्ति को लेकर अपनी सोच बदलनी होगी।
राज्यपाल श्री मिश्र ने इस अवसर पर अपने शुभकामना संदेश में कहा कि महिलाएं अबला नहीं बल्कि शक्तिरूपा और स्वयंसिद्धा होती हैं। उनकी प्रतिभा को यदि सही अवसर उपलब्ध कराए जाएं तो वे पुरुषों की तुलना में कहीं अधिक संवेदनशीलता और सामूहिक हित की भावना के साथ समाज का भला करती हैं।
राज्यपाल श्री मिश्र ने यह भी अपील की है कि बेटियों को शिक्षित बनाकर आगे बढ़ने के भरपूर अवसर उपलब्ध करवाए जाएं क्योंकि एक बेटी शिक्षित होती है तो वह दो परिवारों का भविष्य संवारती है।

Check Also

डॉ. अम्बरीश शरण बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति नियुक्त

डॉ. अम्बरीश शरण बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति नियुक्त राज्यपाल ने आदेश जारी कर दी …