Wednesday , 1 December 2021

राज्यपाल ने किया प्रताप गौरव केन्द्र का अवलोकन

राज्यपाल श्री कलराज मिश्र गुरुवार अपराह्न उदयपुर स्थित प्रताप गौरव केन्द्र पहुंचे और केन्द्र का अवलोकन करते हुए यहां पर स्थित वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की विशाल प्रतिमा और प्रताप के जीवन पर आधारित प्रदर्शनी को देखकर प्रसन्नता जताई।

राज्यपाल ने प्रताप गौरव केन्द्र की प्रदर्शनी दीर्घा में महाराणा प्रताप के जीवन और उनकी वीरता को प्रदर्शित करने वाली चित्र प्रदर्शनी को देखा। प्रताप गौरव केन्द्र के निदेशक अनुराग सक्सेना ने चित्र प्रदर्शनी के विभिन्न प्रभागों का अवलोकन कराते हुए इसकी विषयवस्तु की जानकारी दी।

इससे पूर्व राज्यपाल केन्द्र के ठीक सामने पहाड़ी पर स्थित महाराणा प्रताप की 57 फीट ऊंची विशाल प्रतिमा तक भी पहुंचे और प्रतिमा पर पुष्पांजलि की। यहां पर केन्द्र के प्रकाश चन्द्र ने प्रतिमा के बारे में अवगत कराया। राज्यपाल ने महाराणा प्रताप के शौर्य को प्रदर्शित करती इस विशाल प्रतिमा को अद्भुत बताया।
प्रदर्शनी का अवलोकन करने के बाद राज्यपाल ने कहा कि इस केंद्र में राष्ट्र भक्ति की प्रतिमूर्ति महाराणा प्रताप का संपूर्ण जीवन समाहित है। यहां महाराणा प्रताप की वीरता को विभिन्न प्रदर्शनियों के माध्यम से जिस ढंग से प्रदर्शित किया गया है उसकी जितनी प्रशंसा की जाए वो कम है। उन्होंने कहा कि केन्द्र में बड़ी प्रमाणिकता के साथ विभिन्न माध्यमों में महाराणा प्रताप के जीवनवृत्त को प्रदर्शित किया है। निश्चित रूप से यहां जो भी पर्यटक आएगा वो विशेष रूप से प्रभावित होगा और इससे प्रेरणा प्राप्त करेगा। उन्होंने कहा कि इस केन्द्र का दर्शन अधिकतम संख्या में विद्यार्थियों को कराया जाए ताकि बच्चों को महाराणा प्रताप की वीरता एवं उनके त्यागपूर्ण जीवन की जानकारी प्राप्त हो सके।

पोस्टर का किया विमोचन:
इस मौके पर राज्यपाल ने प्रताप गौरव केन्द्र द्वारा स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में आयोजित होने वाले ‘स्वराज 75’ कार्यक्रम और पुष्प प्रदर्शनी के पोस्टर का विमोचन भी किया।

Check Also

संविधान की मूल प्रति में भारतीय संस्कृति का चित्रण भावी पीढ़ी के लिए प्रेरणादायक

मूल अधिकार और कर्तव्यों में संतुलन से ही राष्ट्रहित और नैतिक मूल्यों की सही पालना …