Tuesday , 28 September 2021

अपनी पौत्रियों को आबू की जैव विविधता और झील की सुनाई कहानी

राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने शुक्रवार को राजभवन के ‘लेक व्यू‘ स्थल से माउंट आबू की सुप्रसिद्ध नक्की झील और यहां की जैव विविधता के सौंदर्य को सपरिवार निहारा। उन्होंने कहा कि आबू पर्वत की नक्की झील जितनी सुंदर है, उतनी ही विविधतापूर्ण और आकर्षक यहां की जैव विविधता है।

राज्यपाल राजभवन के ‘लेक व्यू‘ पॉइंट पर आज शिक्षक और पर्यावरणविद् की भूमिका में थे। दूर तक फैली हरियाली और पहाड़ों के मध्य कटोरानुमा झील तथा फलों से लदे वृक्ष देखकर उन्होंने अपनी पौत्रियों आशी और अमिशी को स्थानीय वनस्पतियों और आबू पर्वत की पारिस्थितिकी तंत्र की विशेषताओं के बारे में भी देर तक बहुत सारी जानकारियां साझा की।

राज्यपाल ने अपनी पौत्रियों को नक्की झील की उत्पत्ति और आबू पर्वत से जुड़े इतिहास की भी रोचक कहानियां सुनायी। राजभवन के ‘लेक व्यू‘ पॉइंट से नक्की झील और हरियाली से लकदक पहाड़ियों की रमणीयता को देख राज्यपाल ने आज प्रातः कोई दो घंटे तक वहीं बच्चों और परिवार के साथ समय बिताया। राज्यपाल ने बाद में कहा भी, ‘हरी-भरी धरती ही मन को सदा उर्वर रखती है। इसलिए बच्चों को आरम्भ से ही विद्यालयों में बाकी विषयों के अध्ययन के साथ पर्यावरण संरक्षण और पारिस्थितिकी संतुलन का भी पाठ पढ़ाया जाना चाहिए।‘

Check Also

राज्यपाल को भेंट किया श्रील् प्रभुपाद जी की 125वीं जन्म जयन्ती के उपलक्ष में जारी विशेष स्मारक सिक्का

राज्यपाल श्री कलराज मिश्र को अंतर्राष्ट्रीय कृष्णभावनामृत संघ (इस्कॉन) के संस्थापक भक्तिवेदांत स्वामी श्रील् प्रभुपाद …