Tuesday , 28 September 2021

पारिस्थितिकी अनुकूलता के अंतर्गत संरक्षण और स्थानीय विकास पर दिया जोर

राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने बुधवार सांय को माउन्ट आबू की सुप्रसिद्ध नक्की झील के किनारे सपरिवार भ्रमण किया। इस दौरान राज्य की प्रथम महिला श्रीमती सत्यवती मिश्र सहित उनके परिजनों ने झील में बोटिंग भी की।

आबू के पहाड़ों के मध्य स्थित नक्की झील और दूर तक फैली हरियाली को देखकर राज्यपाल श्री मिश्र अभिभूत हो गए। बाद में झील के किनारे स्थित नेशनल पार्क में देर तक सपरिवार उन्होंने रुक कर प्राकृतिक दृश्यावलियों का आस्वाद किया। उन्होंने कहा कि नक्की झील का समग्र परिवेश ही रमणीय है।
राज्यपाल ने राजस्थान के इस सुंदर पर्वतीय पर्यटन स्थल का पारिस्थितिकी अनुकूलता के अंतर्गत संरक्षण और विकास किए जाने पर जोर दिया।

उन्होंने जलवायु परिवर्तन के अंतर्गत पर्वतीय क्षेत्रों में आ रहे पारिस्थितिकीय बदलाव की चर्चा करते हुए कहा कि स्थानीय स्तर पर पर्यावरण संरक्षण के लिए सभी को मिलकर प्रयास करने चाहिए। उन्होंने कहा कि राजस्थान की मीठे पानी की सुप्रसिद्ध नक्की झील और इसके आस-पास के स्थलों को इकोलोजिकल जोन के अंतर्गत सावधानी रखते हुए संरक्षण करने के प्रयास इस तरह से हों कि यहां की जैव विविधता भी बची रहे।

श्री मिश्र ने इससे पहले नक्की झील स्थित नेशनल पार्क पर पहुंचने पर उपखण्ड अधिकारी श्री अभिषेक सुराणा से झील विकास एवं पर्यावरण संरक्षण के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि झील की स्वच्छता को बरकरार रखते हुए पर्यावरण को शुद्ध रखने में जन भागीदारी सभी स्तरों पर सुनिश्चित होनी चाहिए।
नेशनल पार्क में नगर निगम अध्यक्ष श्री जीतू राणा ने राज्यपाल श्री मिश्र को नगर निगम द्वारा तैयार माउंट आबू पर्यटन स्थलों से संबंधित मोमेंटो भेंट किया।

Check Also

राज्यपाल को भेंट किया श्रील् प्रभुपाद जी की 125वीं जन्म जयन्ती के उपलक्ष में जारी विशेष स्मारक सिक्का

राज्यपाल श्री कलराज मिश्र को अंतर्राष्ट्रीय कृष्णभावनामृत संघ (इस्कॉन) के संस्थापक भक्तिवेदांत स्वामी श्रील् प्रभुपाद …